Latest News* कांग्रेस सभी वर्गो को साथ लेकर चलने वाली पार्टी: सोनिया   * देश में अंदरूनी सुरक्षा हालात संप्रग सरकार के तहत बेहतर: शिंदे   * अचानक थमी आजार की रफ्तार, सेंसेक्स और निफ्टी में गिरावट   * टाटा व मिस्त्री से स्पष्टीकरण मांगेगी सीबीआई   * रॉय पर अवमानना के मामले पर अलग से विचार: सुप्रीम कोर्ट   * मध्यम तेज कोर्ट पर सनम बेहतर विकल्प : आनंद   *



मैथ्यूज की तूफानी पारी से श्रीलंका फाइनल में


मीरपुर, एजेंसी। एंजेलो मैथ्यूज की तूफानी पारी और कार्यवाहक कप्तान लेसिथ मालिंगा की खतरनाक गेंदबाजी से वेस्टइंडीज को बैकफुट पर भेजने वाले श्रीलंका ने गुरुवार को बारिश से प्रभावित पहले सेमीफाइनल में डकवर्थ लुईस पद्वति से 27 रन से जीत दर्ज करके आईसीसी विश्व टी20 चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बनाई। मैथ्यूज ने पारी की आखिरी गेंद पर आउट होने से पहले 23 गेंद पर तीन चौकों दो छक्कों की मदद से 40 रन बनाये जिससे श्रीलंका शुरूआती झटकों से उबरकर छह विकेट पर 160 रन बनाने में सफल रहा। मैथ्यूज के अलावा लाहिरू तिरिमाने ने 44 और तिलकरत्ने दिलशान ने 39 रन का योगदान दिया। वेस्टइंडीज के स्पिनरों ने 13 ओवर में केवल 75 रन दिये, लेकिन तेज गेंदबाजों ने बाकी सात ओवरों में 83 रन लुटा दिये। वेस्टइंडीज की शुरूआत खराब रही तथा डवेन ब्रावो के 19 गेंदों पर 30 रन के बावजूद जब उसने 13.5 ओवर में चार विकेट पर 80 रन बनाये थे तभी बारिश आ गयी। वेस्टइंडीज को उस समय बाकी बची 37 गेंदों पर 81 रन चाहिए थे जबकि श्रीलंका डकवर्थ लुईस पद्वति से 27 रन आगे था। इसके बाद आगे खेल नहीं हो पाया। मालिंगा ने दो ओवर में पांच रन देकर दो विकेट लिये जो आखिर में महत्वपूर्ण साबित हुए। श्रीलंका ने इस जीत से दो साल पहले अपनी सरजमीं पर विश्व टी20 फाइनल में वेस्टइंडीज के हाथों मिली हार का बदला भी चुकता कर दिया। वह तीसरी बार इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचा है जहां छह अप्रैल को उसका मुकाबला भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच शुक्रवार को होने वाले दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से होगा। मौजूदा चैंपियन वेस्टइंडीज को खराब शुरूआत का नुकसान उठाना पड़ा। डवेन स्मिथ ने नुवान कुलशेखरा की पारी की पहली दो गेंदों पर दस रन बनाये लेकिन क्रिस गेल फिर से बेरंग दिखे। बायें हाथ का यह बल्लेबाज 13 गेंद पर केवल 3 रन बनाने के बाद मालिंगा की गेंद विकेटों पर खेल गया। इस तेज गेंदबाज ने इसी ओवर में स्मिथ (17) का भी विकेट उखाड़ा। लेंडल सिमन्स (4) के आउट होने से कैरेबियाई टीम का स्कोर तीन विकेट पर 34 रन हो गया। अब ब्रावो पर जिम्मेदारी थी और वह उसे अच्छी तरह से निभा रहे थे लेकिन दूसरे छोर पर मलर्न सैमुअल्स (29 गेंद पर नाबाद 18 रन) को स्पिनरों का सामना करने में दिक्कत आ रही थी। उन्होंने कई गेंद खराब की जिससे टीम और विशेषकर दूसरे छोर पर खड़े ब्रावो पर दबाव बढ़ा। रन और गेंदों के बीच अंतर बढ़ने की स्थिति में उनके पास लंबे शाट खेलने के अलावा कोई चारा नहीं था और दबाव में वह डीप स्क्वायर लेग पर कैच दे बैठे। अब डेरेन सैमी क्रीज पर थे लेकिन वह कोई चमत्कारिक प्रदर्शन कर पाते इससे पहले बारिश और ओलावष्टि होने लगी। इस तरह सैमी ने किसी गेंद का सामना नहीं किया और उनकी टीम टूर्नामेंट से बाहर हो गयी। इससे पहले परेरा और दिलशान ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी के लिये उतरे श्रीलंका को आक्रामक शुरूआत दिलायी लेकिन आठ रन के अंदर तीन महत्वपूर्ण विकेट गंवाने से रन गति धीमी पड़ गयी। परेरा और दिलशान दोनों ने लेग स्पिनर सैमुअल बद्री के दूसरे ओवर में लांग आफ पर छक्के लगाये। परेरा ने कषमार सैंटोकी की गेंद भी लांग आन पर छक्के लिये भेजी लेकिन बायें हाथ का यह तेज गेंदबाज इसी ओवर में उनका मिडिल स्टंप उखाड़कर बदला लेने में सफल रहा। परेरा ने केवल 12 गेंदों पर दो चौकों और दो छक्कों की मदद से 26 रन बनाये। नये बल्लेबाज माहेला जयवर्धने अगले ओवर में किसी गेंद का सामना किये बिना रन आउट होकर पवेलियन लौट गये। दिलशान ने प्वाइंट की तरफ कट करके तेजी से रन लेना चाहा लेकिन जयवर्धने ने देरी लगायी और आउट हो गये। टीम के दूसरे अनुभवी बल्लेबाज कुमार संगकारा भी एक रन ही बना पाये। वह बद्री की गेंद को पुश करने से खुद को नहीं रोक पाये और वापस गेंदबाज को कैच दे बैठे। लगातार विकेट गिरने से रन गति पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा। पहले चार ओवर में 41 रन बने लेकिन श्रीलंकाई बल्लेबाज अगले छह ओवर में 24 रन ही जुटा पाये। तिरिमाने ने तेजी दिखाने की कोशिश की लेकिन दिलशान को सिमन्स ने सीधे थ्रो पर रन आउट कर दिया। इससे इन दोनों के बीच 42 रन की साझेदारी भी टूट गयी। करिश्माई आफ स्पिनर सुनील नारायण चार ओवर में केवल 20 रन दिये। तिरिमाने ने ऐसे में 15वें ओवर में रसेल पर चौका और छक्का जड़कर भरपायी करने की कोशिश की लेकिन सैंटोकी की धीमी गेंद पर वह सही टाइमिंग से शाट नहीं लगा पाये और प्वाइंट पर कैच दे बैठे। तिरिमाने ने अपनी पारी में तीन चौके और दो छक्के लगाये। मैथ्यूज ने सीकुगे प्रसन्ना (नाबाद 06) के साथ मिलकर आखिरी दो ओवरों में 32 रन ठोके। उन्होंने 19वें ओवर में सैंटोकी की पहली तीन गेंदों पर एक छक्का और दो चौके लगाये और फिर रसेल के आखिरी ओवर में 15

digg 6
Share
सुप्रीम कोर्ट ने खालिस्‍तानी आतंकी भुल्‍लर की फांसी पर लगाई रोक

23 जनवरी को गोरखपुर में गरजेंगे मोदी, भूमि पूजन के साथ शुरू हुई तैयारियां

अखिलेश के ड्रीम प्रोजेक्ट 'लखनऊ आगरा एक्सप्रेस वे' ने ली एक किसान की

आज शुरू होगा विधानसभा का सत्र, जानिए क्या है इसकी खासियत

CM के आदेश को ठेंगा दिखाने का खामियाजा, कोलार नपा CMO सस्पेंड






बिजनेस





अध्यात्म
स्पोर्ट्स
बुसान, एजेंसी। भार...
मीरपुर, एजेंसी। एं...
...


तस्वीरें